हैलो दोस्तो कैसे हैं आप? दोस्तो कहानी को आगे बढाने से पहले मैं कूछ कहना चाहती हूँ. आप तो जानते ही हैं कि इस समय हमारा देश 'कोरोना' नाम की महामारी से परेशान हैं. कई कोशिशो के बाद भी इस रोग कि रोकथाम कि कोई दवा नहीं मिल पा रही है. तो ऐसे में हमें अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी वो कैसे ? इसके लीए में एक पोस्ट लिखूगीं जिसे पड़कर आप अपनी सुरक्षा कर सकते हैं. तो चलिए अब यह कहानी सूरू करें............ 

ये कहानी हैं एक लड़का और उसकी लड़की दोस्तो की वह दोनो बचपन से बहूत अच्छे दोस्त थें. यहा लड़के का नाम था राहूल और लड़की का सीमा.  राहुल जो था वह सरमिला स्वभाव का सीधा साधा लड़का था और सीमा उसके विपरीत चचल और बहूत ज्यादा फैशन का शॉक करने वाली लड़की थी. उसे बचपन से ही क्रिम और पॉडर लगाने का बहूत शॉक था. 



वह बचपन में दोनों घर-घर खेलते किसी और कि तो उन्हें जरूरत ही नहीं पड़ती . वह गमले से पत्तिय तोड़ते और उसी कि रोटी उसी की सब्जी बनाते इस तरह वह अपना नकली खाना बनाकर खाने का नाटक भी करते. ऐसे ही समय बीता दोनो बड़े होने लगें लेकिन उनकी दोस्ती अब भी वैसी ही थी. अब बचपन की दोस्ती प्यार में बदलने लगी थी.






 वह जवान हूँए तो उन्हें एक दूसरे से प्यार हो गया. ऐसा कूछ समय तक चलता रहा फिर एक दिन राहूल को काम के सिलसिले में अपने घर से दूर जाना पड़ा.  

राहुल काम की तलाश में मूम्बई गया हूआ था उसे 3 महिने हो चुके थे. इधर बिहार में उसका प्यार सीमा उसके वापस आने कि राह देख रही थी,  के तभी उसकी बूआ अचानक एक लड़के का रिश्ता ले आई रिश्ता सूनते ही सीमा की माँ ने हा करदी . 

सीमा बहूत परेशान थी वो कैसे राहुल को बताती की उसकी माँ ने उसका कही ओर रिश्ता तय कर दिया हैं. उस समय  मोबाइल फोन भी नहीं हूआ करते थें. कि वह फटाफट बता दे .लेकिन एक दिन सीमा कि सादी हो गई. 

जब 5 महिने बाद राहुल अपने घर आया तो वह बहूत खूश होकर सीमा के घर गया लेकिन सीमा वहा नहीं थी.  किसी ने उसे बताया कि उसकी शादी हो चुकी है. ये सूनते ही उसके पैरो तलेे जैसे जमींन खिसक गई. वह सीधे ज़मिन पर गिर गया. 
राहुल अब गूमशूम रहना लगा था. कुछ समय बाद सीमा अपने घर आई तब वह गर्भवती थी. राहुल उसे देखकर बहूत खूश हूआ.  जब उसने सीमा से पूछा तूम शादी से खूश होना, तो वह रोते हुए बोली नहीं में खूश नहीं हूँ. 

तब राहुल बोला में अब भी तुम्हें अपना सकता हूँ चलो मेरे साथ वो चुप हो गई. समय बीता सीमा को बेटी हूई. इसके बाद उसका पती उसे मारने पीटने लगा. एक दीन वह अपनी नन्ही बच्ची छोड़कर राहुल के साथ भाग आई. दोनो ने एक मंदिर में जाकर शादी कर ली. शादी के कूछ साल बाद उनको बेटा हूँआ जिसका नाम उन्होने आशिश रखा. सीमा अपनी बच्ची को भी अपने पहले पती के घर से ले आई. आज वह चारो बेहद खूश हैं. 




Post a Comment

Previous Post Next Post