नमस्कार दोस्तो कैसे हैं? जैसे भी हैं बस इस संकट कि घड़ी में स्वस्थ रहिए और सुरक्षित रहिए.ये कोरोना नाम कि महामारी कहीसे भी,  कभी भी आप पर हमला कर सकती है. जितना हो सके खूद को बचाकर रखने कि कोशिश करे. दोस्तो कोरोना के लक्षण खांसी जुकाम और बूखार भी है.अभी तो ज़माना ऐसा हो गया है कि गल्ती से आम छींक भी आ गई अगर, तो लोग कोरोना समझ लेगे और आपसे  दूरी बना लेगे. दोस्तो अब बरसात शूरू हो चुकी हैं .ऐसे में ये समस्या होना आम बात हैं खासकर बच्चे और बूढे़ इस समय परेशान रहते हैं. आज में इन्ही समस्याओं के लिए कुछ उपाय लाइ हूँ. जो नीचे पोस्ट में हैं......



आप यहाँ बताए गए घरेलू उपचारो को कर,  इन सभी समस्यों से छुटकारा पा सकते हैं तो करके देखिए...... 
लहसुन स्वास्थ्य के लिए हैं बेहतर


दोस्तो लहसुन एक घरेलू औषधी हैं. यह आसानी से आपके घर आपके ही कीचन में मौजूद होगी.  इसको खाने के कई लाभ है. अगर लहसुन को घी में बगार कर गर्म-गर्म पानी के साथ खा लें तो यह जुकाम और खांसी जैसी समस्या से छूटकारा दिला सकता हैैं. करके देेखे फायदा जरूर होगा. 

गेहूं की भूसी से भी होगा उपचार  


सूनने में थोड़ा अटपटा लगेगा लेकिन यह सच हैं कि जुकाम और खांसी के उपचार के लिए आप गेहूं की भूसी का भी प्रयोग कर सकते हैं. यह एक बहूत बढ़़िया उपाय हैैंं.
करना ये हैं कि- आपको गेहूं की थोड़ी सी भूसी लेनी हैं,  फिर पांच -छः लौंग और एक चम्मच नमक लेकर पानी डालकर उबाल लें.  यह एक काढे का रूप ले लेगा अब इसे छानकर चाय के जैसे ही आराम-आराम से पीजिए.  इससे खांसी में तुरंत आराम मिलेगा.  गेहूं की भूसी का प्रयोग आपकी खांसी पर संजीवनी बूटी कि तरह काम करेगी. 
अनार जूस दे खांसी मे आराम


वैसे तो अनार के ढेर सारे लाभ होते लेकिन आज हम यहा अनार  के खांसी में क्या लाभ हैं वह बताने जा रहे हैं. 
तो चलीए बताते हैं-अनार में थोडा अदरक और पीपल का पाउडर डालकर खाने से खांसी को आराम मिलता है.आप ये भी कर सकते हो अनार के फल को छिलकर उसका छीलका नीकाल लें और उसे चबा-चबा कर चूसे यह उपाय खांसी में तुरंत लाभ देता हैं. 

काली मिर्च का देखो कमाल


अगर खांस-खांस कर परेशान हो गए हो और खांसी के साथ कफ या बलगम भी आता हैै,  तो ऐसे में आप आधा चम्मच पीसी काली मिर्च को देसी घी के साथ मिलाकर खाएं.

आप ऐसे खा सकते हैं पहले घी गर्म किजीए फिर उसमें काली मिर्च का पॉउडर मिला कर पी लिजिए.इस प्रकिर्या से खांसी और जुकाम जैसी दोनो  समस्याओं में राहत मिलती हैं. 

गर्म गर्म चीजो का करे सेवन


जुकाम और खांसी शरिर के अदर ठण्डी घुसने के कारण होती हैं. किसी-किसी की तासीर ठण्डी होती और थोड़ा भी बारीस में भीग जाते हैं तो उन्हें तूरंत खांसी और जुकाम हो जाता हैं.  जब भी बरसात में आप भीग जाते हैं तो ऐसे में आप गर्म-गर्म अदरक वाली चाय, या गर्म पानी का सेवन करें.  ठंडा पानी तो बिल्कुल मत पीजिएगा. 

गाजर का जूस होगा फायदेमंद


आपने आजतक यही सुना  होगा कि गाजर आखों के लिए अच्छा होता हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दू कि गाजर खांसी-जुकाम में भी रामबाण का काम करता है. आप गाजर को साफ करले उसे धो लें और फिर इसका जूस नीकाल कर पीये यह खांसी मेें लाभ करता हैैं. 

जुकाम खांसी में हल्दी करे काम जल्दी


मूझे जब जुकाम खांसी या गले में दर्द सा महसूस  होता हैं तो में यही उपाय करती हूँ.हल्दी एक बेहद उपयोग में लाई जाने वाली औषधी हैं. इसे पुराने ज़माने से ही उपयोंग में लाया जा रहा   हैं. 
जुकामऔर खांसी के लिए हल्दी बहुत ही अच्छा उपाय हैं. जुकाम या खांसी होने पर आप हल्दी पॉउडर को दूध में मिलाकर गर्म कर लीजिए और फीर गर्म-गर्म धीरे-धीरे पी लिजीए. यह खांसी और जुकाम जैसी समस्याओं में फायदा करता हैं. 
तुलसी के फायदे हैं ढेर सारेे


बारिश हो और आप भीग जाए फिर जुकाम और खांसी शूरू होने लगे, तो मम्मीयां लग जाती हैं तुलसी का काढ़ा बनाने में.  ये काढ़े का रिवाज़ तो पुराने ज़माने से ही  चला आ रहा हैं.  खांसी जुकाम के लिए तुलसी का काढ़ा बेहद लाभकारी होता हैं. 
यह एक आसान और काफी कारगार,घरेलू उपाय है.ये उपाय ठंड या बरसात के मौसम में लाभदायक होता हैं. तुलसी की पत्तियों को चबाने से भी सर्दी खांसी नहीं होती फ्लू दूर रहता है. 
खांसी और जुकाम हैं तो तुलसी की पत्तियां अदरक के टूकड़े पानी में उबालकर काढ़ा तैयार कर लें. इस काढ़े को चाय की तरह सीप लेकर पीये यह जुकाम खांसी में जल्दी लाभ देता हैं.

शहद, नींबू और इलायची का मिश्रण


शहद कई सारे गुणों का भण्डार हैं. खांसी जुकाम में भी ये बहुत लाभकारी होता हैं. आप थोड़ी सी शहद में एक चुटकी भर इलायची पॉउडर और नीबू के रस को मिलाकर इसका मिश्रण बना लिजिए और इस मिश्रण को दिन में 2 बार खाए. इससे आपको खांसी-जुकाम से बहुत जल्दी राहत मिलेगा. 


गर्म पानी 



पानी गुनगुना करके ही पीये,  जीतना हो सके गर्म पानी पीने कि कोशीश करे.  गर्म पानी आपके गले में जुुुकाम से जमा बलगम को साफ करेेेगा. जुकाम से बंद नाक भी खुलेेगी और आप अच्छा महसूस करेंगे. 


हल्दी वाला दूध


आयुर्वेद में हल्दी का एक विषेश महत्व हैं  इसके एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज जुकाम  खांसी में आराम पहुंचाती है. पहले छोटे बच्चों को दूध में हल्दी मिलाकर पीलाया जाता था, ताकि उनकी हड्डियां मजबूत हो लेकिन आजकल हल्दी की जगह केमिकल्स युक्त प्रोडक्ट ने ले लि हैं.  लेकिन आप ये जान लो हल्दी वाला दूध जुकाम में काफी फायदेमंद होता है क्योंकि हल्दी में एंटीआँक्सीडेंट्स के गुण पाय जाते हैं,  जो हमारे शरिर को कीटाणुओं से लड़ने में सहायता करते है. 
हल्दी वाला दूध पीना सबसे अच्छा रात में होता हैं.क्योंकि इसे रात में पीने से ये शरिर को तेजी से आराम पहुचाता है और शरिर में मौजूद हानिकारक जीवाणु से लड़ने लगता हैं.  हल्दी और दूध के कमाल से खांसी और जुकाम में आराम मिलने लगता है.
गर्म पानी और नमक से गरारेे

गर्म पानी में चुटकी भर नमक मिला कर गरारे करने से खांसी-जुकाम के दौरान काफी राहत मिलती है। इससे गले को राहत मिलती है और खांसी से भी आराम मिलता है। यह भी काफी पुराना नुस्खा है।


मसाले वाली चाय


एक बात है अगर मसाले वाले चाय कि आदत लग जाए तो दूसरी चाय मे मज़ा ही नहीं आता दूसरी चाय तो फिकी लगने लगती हैं. मसाले वाली चाय पीने से खांसी जुकाम भी ठीक होता हैं साथ ही यह पीने में भी काफी टेस्टी लगती हैं.  
मसाला चाय आप ऐसे बनाए-
चाय में आप अदरक को कद्दू कस करके डाले और तुलसी, काली मिर्च, दालचीनी भी मिला लें और खूब अच्छे से उबाल ले  फिर छान कर चाय पीजिए. इन तीनों मसालो  से बनी मसाले वाली चाय पीने से खांसी-जुकाम जैसी समस्यायें दूर हो जाती हैं. 

Post a Comment

Previous Post Next Post