दोस्तो ये कहानी है एक 20 से 22 साल कि महिला  की जिसे अपने घर में कोई प्यार नहीं मिला,  हालांकि उनके माता पिता ने उसे सारी सुविधाए तो दी लेकिन प्यार और अपना वक्त नहीं दे पाय जिसके चलते वह लड़की उस प्यार को घर से बाहर तलाशने लगी. 

जब वह अपना स्कुल खत्म कर कॉलेज जाने लगी तो वहा उसने अपने कुछ मित्र बना लिए जिनके साथ वह सारा दिन खुश रहती. जब वह सुबह अपने पिता के साथ कॉलेज आती तो उसका चहरा खिला-खिला रहता और जैसे ही शाम होती तो उसके चहरे पर उदासी के काले बादल छाने लगते. 






एक दिन उसके जीवन में एक शख्स आया जो उसके उम्र से दुगना था. वह उसी शख्स में अपने प्यार को देखने लगी.  लेकिन वह किसी शोसल मीडिया द्वारा मिले थे. वह पास नहीं थे मिलो दूर रहकर ही एक दूसरे में प्यार को तलाशते थे. मजे कि बात तो ये थी उन्होंने एक दूसरे को देखा तक नहीं था फिर भी घंटो प्यार की बाते करते थे. जब वह कॉलेज आती तो फोन पर लग जाती. कॉलेज की छूट्टी तक यानि के शाम तक फोन पर लगी ही रहती थी . 

ऐसे ही 2 साल तक चलता रहा उसे जितना पैसा चाहिए होता वह  उस शख्स से मगवा लिया करती थी.  घर से सलवार सूट पहनकर आती और कॉलेज में उनके पापा गेट पर छोड़ जाते लेकिन वह कॉलेज के अंदर नहीं जाती बाहर से ही मॉल भाग जाया करती थी. मॉल से छोटे-छोटे कपड़े खरिदती और पहन कर  दिनभर घुमती रहती जब शाम को उनके पापा आते  कॉलेज उनको लेने , तो उनसे पहले ही वह सलवार सूट पहनकर गेट पर खड़ी हो जाती और जो मॉल के छोटे कपड़े होते थे  वह खचरे के डब्बे में फेंक कर चली जाती  और अगले दिन फिर मॉल से नए कपड़े ले आती.


पूरे 2 साल उस शख्स को उस लड़की ने बहुत लूटा उसके पैसो में खुद तो एश करती साथ ही अपनी सहेलीयों को भी एश करवाती. एक दीन उस शख्स ने उस लड़की से कहा कि में तुमसे मिलना चाहता हूं और शादी करना चाहता हूं तब लड़की ने कहां ठिक है. लेकिन अगले ही दिन उसने उस शख्स को हर जगह से ब्लॉक कर दिया फिर उस शख्स का क्या हुआ पता नहीं. 

लड़की तो किसी और शख्स के साथ बिजी हो गई उसके साथ भी 1 साल घुमी और कॉलेज के अंत में उसे भी छोड़ दिया. इसके बाद उसकी एक संस्कारी लड़के के साथ विवाह हो गया. आज उसके 2 बेटे है.  पति के प्यार ने उसे सुधार दिया अभी वह कुशल ग्रहणी बनकर रहती है. 


Post a Comment

Previous Post Next Post